Thursday, December 17, 2009

मंत्र

सोई किस्मत जागे तभी

मंत्र ऐसा कोई जब पढू कभी

खुलने लगे बंद किस्मत के ताले

कुंजी ऐसी मिले जब कहीं

सफलता के राज छुपे हो जिसमे

मिला ना वैसा मंत्र अभी तलक

No comments:

Post a Comment