Tuesday, December 22, 2009

लड़क्प्पन की कहानी

चलती है जब बात पुरानी

याद आ जाती है लड़क्प्पन की कहानी

चंदा की वो कहानी जिसे सुनाती थी माँ

माँ के ममता में लिपटी वो लोरी की रागिनी

सुनके जिसे सो जाते थे माँ के आँचल में

अब ना कभी लोटेगी वो जिंदगानी

जब भी चले कोई बात पुरानी

याद आ जाती है लड़क्प्पन की कहानी

No comments:

Post a Comment