Friday, December 10, 2010

दिल में

आँखों में शरारत

चहरे पे मुस्कान

कुदरत ने भर दी सारी कायनात

तेरे छोटे से प्यार भरे दिल में लाय

No comments:

Post a Comment