Wednesday, February 3, 2010

बोल

बोल बोल का फर्क है

बोल बोल का महत्व है

नहीं है जिन्दगी में ह़र चीजों का मोल

कुछ चीजें तो है अनमोल

इसलिए ह़र बोल को सोच समझ कर बोल

तोल मोल के बोल

बोल कुछ ऐसे बोल

जिसमे मिला हो अमृत का घोल

No comments:

Post a Comment