Thursday, September 2, 2010

अजनबी

अजनबी शहर अजनबी लोग

ढूंड रही नज़र तलाश रही छोर

मन हो उदास भटक रहा

कभी इस गली

कभी उस मौहले की ओर

बेबस आँखे घुर रही गुजरे पल की ओर

अब तो याद भी नहीं

जाना है किस ओर

अजनबी शहर अजनबी लोग

No comments:

Post a Comment