Wednesday, December 8, 2010

लगन

लागी तुझसे लगन

वो अनजाने सनम

खबर ना मिले जब कोई

घबराने लगे मन

मांगे रब से

तेरी सलामती की खबर

ओ अनजाने सनम

लागी तुझसे लगन

No comments:

Post a Comment