Saturday, July 18, 2009

आप

आप चले आये चुपके से

दिल में ठंडी बयार बनके

कब क्यों कैसे हुआ समझ ना पाये

जो दिल खोजा तो आप के पास पाया

आपके प्यार ने जीवन रंगत ही बदल डाली

मुरझे हुए दिल में प्यार की लौ जला दी

किस्मत हमारी अब आपके हाथ है

जो चाहों तो प्यार की खुशबू से महका दो

वादा करो साथ हमारा अब्ना छोड़ जाओगे

No comments:

Post a Comment