Saturday, August 8, 2009

ख्यालो में

अब ना कभी लडेंगे , ना बिछ्डेगे

सिर्फ़ दूर से एक दूजे को चाहा करेंगे

फासले मिट नही पायेंगे

चाह कर भी एक दूजे के हो नही पायेंगे

तुम आसमानों में

हम धरती पे होंगे

तुम सितारों की भीड़ में गुम होंगे

हम उदास तन्हा तुम्हारे ख्यालो में खोये होंगे

No comments:

Post a Comment