Monday, August 17, 2009

प्रेम ग्रन्थ

आओ मिलके नया प्रेम अध्याय लिखे

हाले दिल एक दूजे का बया करे

दिल के कोरे कागज़ पे

लहू की स्याही से

प्रेम की इबादत लिखे

आओ एक नया प्रेम ग्रन्थ लिखे

No comments:

Post a Comment