Thursday, May 27, 2010

बेटियाँ

अनमोल होती है बेटियाँ

पर समाज की उनके पैरों में

पड़ी होती है बेड़िया

जन्म लिया जिस द्वारे

छोड़ जाना पड़े उसी द्वारे

ह़र रस्म निभाती है बेटियाँ

कभी बेटी बन, कभी बहन बन

कभी पत्नी बन , कभी माँ बन

एक ही जन्म में

कितने जन्म लेती है बेटियाँ

पर दुःख उसका कोई समझे नहीं

प्रसव पीड़ा कोई जाने नहीं

फिर भी वंश बढाती है बेटियाँ

ममता ओर त्याग की मूरत होती है बेटियाँ

कुदरत की सबसे हसीन रचना है बेटियाँ

सच यही है

दुनिया में सबसे अनमोल होती है बेटियाँ

No comments:

Post a Comment