Wednesday, November 11, 2009

तेरा नाम

अक्स तेरा दिल में बनाया था

मोह्बत ये मल्लिका तुझको बनाया था

सपनो के उड़नखटोले से उत्तार दिल में बसाया था

साहिलों में डूब ना जाओ नजरो में समाया था

रेत पे लिखे नाम की तरह ना मिट जाओ

इसलिए तेरा नाम अपने सीने पे खुदवाया था

No comments:

Post a Comment