Friday, September 18, 2009

तेरे बिना

लबों पे तुने जो अपना नाम लिख दिया

कैसे उसे मीटाऊ

दिल जो मेरा तुने अपने नाम कर लिया

कैसे तुझे भुलाऊ

नयनो में तू जो छाई

कैसे तुझे से नजर चूराऊ

धड़कन में तू जो समाई

तुझ बिन कैसे जी पाऊ

No comments:

Post a Comment