Monday, October 12, 2009

सिंदूर

कैसा वो पल होगा

मेरे हाथो में तेरा तेरा हाथ होगा

हर कदम साथ साथ होगा

लबों पे सिर्फ़ एक दूजे का नाम होगा

मेरे नाम का सिंदूर तेरी मांग में होगा

No comments:

Post a Comment