Monday, October 12, 2009

नफासत

ये दुनिया एक हसीन सपना है

जी भर जीना चाहिए

खाब टूटे इससे पहले

तम्मना पुरी कर लेनी चाहिए

खाब में सचाई का अक्स नजर आना चाहिए

तभी तो कहते है

नफासत के साथ जीना चाहिए

No comments:

Post a Comment