Wednesday, January 20, 2010

अपना तराना

हमने है दिल को समझाया

वो नहीं है अपना तराना

साथ उनके चल सकते नहीं

हमसफ़र बन सकते नहीं

वो तो है बस एक साया

छोड़ जाए साथ जब हो उजाला

हमने है इसलिए खुद को भुलाया

तरह तरह से दिल को बहलाया

कैसे कैसे इसको फुसलाया

तब जा इसकी समझ ये आया

वो नहीं है इस दिल का तराना

हमने है दिल को समझाया

No comments:

Post a Comment